GK in Hindi : सामान्य विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी Study materials

Contents



प्रश्न 1. गामा किरणें

उत्तर रेडियोधर्मीपदार्थों के नाभिकों के विघटन द्वारा उत्सर्जित अत्यंत लघु तरंग दैर्ध्य की विद्युत चुम्बकीय तंरगें गामा किरणें कहलाती हैं।

प्रश्न2. परमाणु संख्या से आप क्या समझते हैं?

उत्तर परमाणुके नाभिक मेें उपस्थित प्रोटाॅनों की संख्या अथवा उदासीन परमाणु के नाभिक में उपस्थित इलैक्ट्राॅनों की संख्या परमाणु संख्या कहलाती है।

प्रश्न3. क्वांटम

उत्तर विद्युतचुम्बकीय विकिरण के रूप में ऊर्जा की जिस न्यूनतम मात्रा का उत्सर्जन/अवशोषण होता है, उसे क्वांटम कहते हैं।

प्रश्न4. व्यतिकरण

उत्तर दोसमान आवृत्ति की तरंगों का इस प्रकार संयोजन कि प्राप्त तरंग का त्रिविम के प्रत्येक बिन्दु पर विक्षोभ उस बिंदु पर प्रत्येक तरंग के विक्षोभ के सदिश योग के बराबर हो, व्यतिकरण कहलाता है।

प्रश्न5. न्यूट्रिनो क्या है?

उत्तर रेडियोइलेक्ट्रिकतत्त्वों के क्षरण से उत्पन्न एक उप-परमाण्वीय आवेश रहित, भार रहित कण न्यूट्रिनो कहलाता है।

प्रश्न6. बी.टी.

उत्तर एकग्राम (पाॅजीटिव) मृदा बैक्टीरिया, जिसे जैविक कीटनाशक के रूप में उपयोग किया गया है। इसके क्राई जीन का उपयोग आनुवंशिक अभियांत्रिकी में किया जाता है।

प्रश्न 7. समस्थानिक एवं समभारिक में अन्तर स्पष्ट कीजिए-

उत्तर वेपरमाणु जिनकी परमाणु संख्या (Z) समान और द्रव्यमान संख्या (A) ߅भिन्न-भिन्न होती है, समस्थानिक कहलाते हैं। ऐसा नाभिक में उपस्थित न्यूट्राॅनों की भिन्न-भिन्न संख्या के कारण होता है। जबकि ऐसे परमाणु जिनकी द्रव्यमान संख्या (A) समान परन्तु परमाणु संख्या (Z) भिन्न होती है, समभारिक कहलाते हैं।

प्रश्न8. देहली आवृत्ति से आप क्या समझते हैं।

उत्तर प्रत्येकधातु के लिए एक अभिलाक्षणिक न्यूनतम आवृत्ति जिससे कम आवृत्ति पर प्रकाष विद्युत प्रभाव प्रदर्शित नहीं होता है, देहली आवृत्ति कहलाती है। देहली आवृत्ति पर निष्कासित इलैक्ट्रानों में गतिज ऊर्जा उपस्थित होती है जो प्रकाष की आवृत्ति के समानुपाती होती है।

प्रश्न9. प्रकाश के द्वैत व्यवहार से आप से क्या समझते हैं?

उत्तर:जब किसी द्रव्य के साथ विकिरण की अन्योन्य क्रिया होती है तब यह कण जैसे गुण प्रदर्शित करता है और जब विकिरण का संचरण होता है तब यह तरंग जैस



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: